Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

फ़ेसबुक प्रमुख Mark Zuckerberg को कांग्रेस की चिट्ठी, पक्षपात व हस्तक्षेप के आरोप

0

भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के नफ़रत फैलाने वाले पोस्ट को फ़ेसबुक प्लैटफ़ॉर्म से नहीं हटाने का मुद्दा तूल पकड़ चुका है। इस बारे में कांग्रेस पार्टी ने फ़ेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी mark zuckerberg को एक कड़ी चिट्ठी लिख कर उनके भारतीय अधिकारियों की शिकायत की है और जाँच पूरी होने तक फेसबुक के मौजूदा भारतीय अधिकारियों को हटा कर नई टीम बनाने की माँग की है।

क्या है मामला? (mark zuckerberg)

अमेरिकी पत्रिका वॉल स्ट्रीट जर्नल ने एक ख़बर में कहा था कि फ़ेसबुक ने तेलंगाना के बीजेपी विधायक टी राजा सिंह के मुसलिम विरोधी पोस्ट को इसलिए नहीं हटाया क्योंकि इससे कंपनी के व्यापार पर असर पड़ता। खबर के मुताबिक़, फ़ेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी डाइरेक्टर अंखी दास ने कहा था कि ऐसा करने से कंपनी के बिजनेस प्रॉस्पेक्ट पर बुरा असर पड़ेगा। ऐसे कम से कम तीन और मामले थे। इसके साथ ही खबर में यह भी कहा गया था कि फ़ेसबुक ने चुनाव में बीजेपी की मदद की थी।

कांग्रेस महासचिव के. सी. वेणुगोपाल की ओर से लिखी गई चिट्ठी में कहा गया है कि फ़ेसबुक के भारत में कार्यरत अफ़सर ने एक राजनीतिक दल को फ़ायदा पहुँचाया।

mark zuckerberg


mark zuckerberg

कांग्रेस की चिट्ठी में यह भी कहा गया है कि बीजेपी नेताओं के साथ फ़ेसबुक की मिलीभगत है और कंपनी इन नेताओं के हेट स्पीच को लगातार बढ़ावा दे रही है।

कांग्रेस पार्टी ने फ़ेसबुक पर भारत के आंतरिक लोकतंत्र में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया है और कहा है कि वॉल स्ट्रीट जर्नल में इस ख़बर के छपने के बाद उसे वहां से हटा लिया गया है। इससे यह साबित होता है कि फ़ेसबुक अपनी ग़लती मानता है।

पक्षपात का आरोप

कांग्रेस पार्टी ने कहा है कि इसके पहले भी निष्पक्षता नहीं बरतने के मुद्दे पर फ़ेसबुक और वॉट्सऐप के अधिकारियों से कई बार कहा चुका है। के. सी. वेणुगोपाल ने कहा कि वो ऐसी ही एक बैठक में मौजूद थे, लेकिन इसका कोई असर नहीं हुआ।

कांग्रेस पार्टी ने माँग की है कि कंपनी इस पूरे मामले की एक उच्च-स्तरीय जाँच कराए और उसकी रिपोर्ट फ़ेसुक के निदेशक मंडल को दे। इस रिपोर्ट को प्रकाशित करे।

कांग्रेस ने एक महत्वपूर्ण माँग यह की है कि 2014 के बाद से अब तक इस प्लैटफ़ॉर्म पर पोस्ट किए गए सभी हेट स्पीच का पता लगाया जाए और उसकी जानकारी दी जाए।
यह भी कहा गया है कि जब तक जाँच पूरी नहीं हो जाती तब तक फ़ेसबुक इंडिया का कामकाज कोई और देखे ताकि जाँच प्रभवित न हो।

राहुल गांधी ने क्या कहा?

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है, ‘हम कड़ी मेहनत के बाद हासिल किए गए लोकतंत्र में पक्षपात, फ़ेक न्यूज़ और हेट स्पीच से जोड़तोड़ नहीं करने देंगे। वॉल स्ट्रीट जर्नल ने ख़बर दी है, हेट स्पीच और फ़ेक न्यूज़ को बढ़ावा देने में फ़ेसबुक की भूमिका पर सभी भारतीयों को सवाल उठाना चाहिए।’
इसके साथ ही उन्होंने मार्क ज़करबर्ग को लिखी गई चिट्ठी अटैच भी कर दी है। 

चिट्ठी पर उठते सवाल
बहरहाल, इस कांड से दुनिया में फ़ेसबुक की फ़जीहत तो हो ही रही है।

mark zuckerberg

Latest News cheapest electric bike

ब्रेकिंग  न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More