Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

कानूनों से देश का किसान खुश – रमन सिंह , Farmers of the country happy with laws

0

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसानों का आंदोलन पिछले दो महीने से अधिक समय से जारी है। इस बीच, बीजेपी उपाध्यक्ष और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने आंदोलन को कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों की साजिश करार दिया। रमन सिंह ने यह बयान आगामी पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों पर रणनीति बनाने और किसान आंदोलन पर चर्चा करने के लिए बुलाई गई बीजेपी की अहम बैठक के बाद दिया।

बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह ने कहा, ”यह (किसान आंदोलन) राजनीतिक रूप से प्रभावित है। इस देश के किसान कृषि कानूनों से खुश हैं। देश के विभिन्न हिस्सों में कृषि कानूनों का स्वागत किया गया है। मुझे लगता है कि आंदोलन को जारी रखने के पीछे कांग्रेस और लेफ्ट की साजिश है।” मालूम हो कि किसान संगठनों के नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों के बीच में कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन कोई हल नहीं निकल सका।

किसान नेता जहां कानूनों को उद्योगपतियों के हक में बताते हुए उन्हें रद्द करते हुए एमएसपी पर कानून बनाए जाने की मांग कर रहे हैं तो वहीं सरकार कुछ संशोधन करने को तैयार है। रमन सिंह ने आगे कहा कि कृषि क्षेत्र में सुधार करने, किसानों की आय बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बीजेपी के प्रस्ताव में सराहना की गई। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने कोविड-19 महामारी से प्रभावी तरीके से निपटने को लेकर प्रस्ताव पारित कर प्रधानमंत्री का शुक्रिया अदा किया।

वहीं, दिल्ली में हो रही बीजेपी की बैठक में आगामी विधानसभा चुनावों पर भी चर्चा हुई। रमन सिंह ने बताया, ”पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में होने वाले चुनाव के मुद्दे पर बैठक में चर्चा हुई। पदाधिकारियों ने विश्वास व्यक्त किया कि बीजेपी पश्चिम बंगाल में चुनाव जीतेगी। हम असम में भी चुनाव जीतने जा रहे हैं।”

इससे पहले, बीजेपी महासचिव अरुण सिंह ने बताया था कि दिन भर चलने वाली बैठक के दौरान असम, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव, आत्मनिर्भर भारत अभियान और तीन कृषि कानूनों के बारे में भी चर्चा होगी। उन्होंने बताया, ”बैठक में फिलहाल प्रस्तावों पर चर्चा हो रही है और बैठक के बाद पार्टी के आगामी कार्यक्रमों की रुपरेखा की घोषणा की जाएगी।” कोरोना महामारी के दौरान यह राष्ट्रीय पदाधिकारियों की पहली बैठक है जिसमें नेता प्रत्यक्ष तौर पर शामिल हुए।

पीएम मोदी ने बैठक को किया संबोधित
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दीप प्रज्जवलित कर बैठक की शुरुआत की और बाद में उसे संबोधित भी किया। बैठक में कोविड-19 महामारी के दौरान मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी गई और इस संबंध में एक शोक प्रस्ताव भी पारित किया गया। पीएम मोदी ने राष्ट्रीय पदाधिकारियों से बात की और उनकी चिंताओं को दूर किया। इसके अलावा, पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने भी बैठक को संबोधित किया। बैठक में बीजेपी के सभी राष्ट्रीय पदाधिकारी, प्रदेशों के अध्यक्ष, राज्यों के प्रभारी व सह-प्रभारी तथा राज्यों के संगठन मंत्री भी शामिल हुए।

Hamara Today न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More