Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

Indian Railways/IRCTC Latest News: रेलवे की तरफ से अब नहीं मिलेगी ये सेवा

0

Indian Railways/IRCTC Latest News:
Good India News : अगर आप भी रात में ट्रेन से सफर करते हैं तो यह खबर आपके काम की है. रात के सफर से पहले आपको रेलवे की तरफ से जारी यह जरूरी खबर जान लेनी चाहिए. अगर आप रात में सफर करते हैं तो आपको अपने मोबाइल, लैपटॉप और किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को चार्ज रखना पड़ेगा. रात में ट्रेन में सफर के दौरान आपको चार्जिंग की सुविधा नहीं मिलेगी. यानी घर से निकलने से पहले आपको अपने मोबाइल और लैपटॉप को चार्ज करके चलना होगा

बिजनेस टुडे की खबर के अनुसार, ‘भारतीय रेलवे ने आग से होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए रात में चार्जिंग पॉइंट के उपयोग को प्रतिबंधित कर दिया है. 13 मार्च को दिल्ली-देहरादून शताब्दी एक्सप्रेस में आग लगने के बाद यह निर्णय लिया गया. आग एक कोच में लगी और सात अन्य डिब्बों में फैल गई थी. रेलवे ने धूम्रपान करने वालों पर भी नकेल कसने का फैसला किया है. रेलवे ऐसे अपराधों के लिए सजा में वृद्धि का प्रस्ताव करने की योजना बना रहा है. रेल अधिनियम की धारा 167 के तहत गाड़ियों के अंदर धूम्रपान करने वालों को दंडित किया जाता है. धूम्रपान करने वाले यात्रियों को फिलहाल 100 रुपये तक का जुर्माना लगता है.

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने कहा, ‘यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक ट्रेनों में चार्जिंग पॉइंट बंद रखने का फैसला लिया है.’ बता दें कि रात में चार्ज होने वाले लैपटॉप और मोबाइल फोन के गर्म होने की वजह से लंबी दूरी की ट्रेनों में आग लगने की कई घटनाएं हुईं हैं. बिजनेस टुडे की खबर के अनुसार, निर्देश अन्य रेलवे जोन में भी लागू किया जा रहा है. ठाकुर ने कहा कि यह निर्देश अन्य रेलवे जोन में भी लागू किया जा रहा है.

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि एसी मकैनिक समेत सभी कर्मचारियों को रात में चार्जिंग पॉइंट को बंद करने को लेकर सूचित कर दिया गया है. इसके साथ ही अधिकारियों ने औचक निरीक्षण करने और खामी पाए जाने पर कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का भी फैसला किया है.

Hamara Today न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटरपर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More