more helpful hints hoohootube nikki was lonely.

Kisan Andolan: सरकार के आश्वासन के बाद किसानों का अल्टीमेटम- ’10 दिसंबर तक का दिया है समय- कानून रद्द नहीं करते हैं तो…’

0

Kisan Andolan: किसान नेता ने कहा, ‘हमने 10 दिसंबर तक का अल्टीमेटम दिया है. अगर प्रधानमंत्री हमारी बात नहीं सुनते हैं और कानून को रद्द नहीं करते हैं तो हम रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर देंगे.

Kisan Andolan: कृषि कानूनों को लेकर देशभर में जारी प्रदर्शन के बीच कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendrea Singh Tomar) और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान केंद्र सरकार ने एक बार फिर साफ कर दिया है कि कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया जाएगा, लेकिन किसानों की आपत्तियों और शंकाओं को दूर करने के लिए संशोधन किए जा सकते हैं. कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार लिखित में भरोसा देने के लिए भी तैयार है. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि किसान सरकार की ओर से भेजे गए प्रस्ताव पर विचार करें और जब भी वे बात करना चाहेंगे, सरकार तैयार है.

We’d given an ultimatum till Dec 10 that if PM doesn’t listen to us & doesn’t repeal laws, we’ll block railway tracks. It was decided in today’s meeting that all the people of India will take to the tracks. Sanyukt Kisan Manch will fix a date & announce: Farmer leader Boota Singh pic.twitter.com/xvuf9KEfjz

कृषि मंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद किसानों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. किसान नेता बूटा सिंह ने कहा, ‘हमने 10 दिसंबर तक का अल्टीमेटम दिया है. अगर प्रधानमंत्री हमारी बात नहीं सुनते हैं और कानून को रद्द नहीं करते हैं तो हम रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर देंगे. आज की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि देश के सभी लोग पटरियों पर उतरेंगे. संयुक्त किसान मंच एक तारीख तय करेगा और इसकी घोषणा करेगा.

वहीं, भारतीय किसान यूनियन के बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा, ‘केंद्र सरकार ने माना है कि कानून व्यापारियों के लिए बनाए गए हैं. यदि कृषि राज्य का विषय है, तो उन्हें इसके बारे में कानून बनाने का अधिकार नहीं है.

Hamara Today न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

gf fuck from side and ass.cerita mesum