more helpful hints hoohootube nikki was lonely.

Kisan Andolan Latest Updates: आज विरोध मार्च निकालेंगे, रेलमार्ग जाम करने की चेतावनी

0

Kisan Andolan Latest Updates: किसान आज कई और बड़े कदम उठा सकते हैं

Kisan Andolan Latest Updates: नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के आंदोलन का आज 17वां दिन है. सरकार से कई दौर की वार्ता के बाद भी किसान एक इंच भी पीछे हटने को तैयार नहीं हैं. सरकार संशोधन की बात पर टिकी है, वहीं किसान तीनों कृषि कानूनों को वापस किए जाने की मांग पर अड़े हैं. किसानों का कहना है सरकार से बातचीत के दरवाजे खुले हैं, लेकिन कानूनों को वापस लिए जाने से कम नहीं हम नहीं मानेंगे.

इस बीच किसानों ने अपने प्रदर्शन को और तेज़ करने का ऐलान भी किया है. किसान आज कई और राष्ट्रीय राजमार्गों को जाम कर सकते हैं. पंजाब के अमृतसर से हजारों की संख्या में और भी किसान दिल्ली पहुँच रहे हैं, जिससे आंदोलन को और तेज़ किया जा सके. आज दिल्ली में विरोध मार्च निकाला जायेगा. किसान टोल प्लाजा (Toll Plaza) को खोलने का कदम भी उठा सकते हैं. किसानों ने कहा कि जल्द ही वह देश भर के रेलमार्गों (Trains) को जाम कर देंगे और शीघ्र ही उसकी तारीख घोषित करेंगे.

भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि यदि सरकार किसान नेताओं से बातचीत करना चाहती है, तो उसे पिछली बार की तरह औपचारिक रूप से संदेश देना चाहिए. साथ ही, उन्होंने यह भी कहा कि नये कृषि कानूनों को खत्म किए जाने से कम, कुछ भी स्वीकार्य नहीं होगा. राकेश टिकैत ने कहा- ‘‘उसे (सरकार को) पहले हमें यह बताना चाहिए कि वह कब और कहां हमारे साथ बैठक करना चाहती है, जैसा कि उसने पिछली वार्ताओं के लिए किया. यदि वह हमें वार्ता का न्यौता देती है तो हम अपनी समन्वय समिति में उसपर चर्चा करेंगे और फिर निर्णय लेंगे.’’

भाकियू नेता ने कहा कि जब तक सरकार तीनों नये कृषि कानूनों को निरस्त नहीं करती है तबतक घर लौटने का सवाल ही नहीं है. जब उनसे पूछा गया कि क्या सरकार ने आगे की चर्चा के लिए न्यौता भेजा है तो उन्होंने कहा कि किसान संगठनों को ऐसा कुछ नहीं मिला है.उन्होंने कहा, ‘‘ एक बात बहुत स्पष्ट है कि किसान नये कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने से कुछ भी कम स्वीकार नहीं करेंगे.’’ उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में गाजीपुर-दिल्ली बॉर्डर पर किसानों को संबोधित करते हुए टिकैत ने कहा कि शनिवार सुबह विरोध मार्च निकाला जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘कल भाकियू के कार्यकर्ताओं द्वारा सभी राजमार्गों को टोल मुक्त कर दिया जाएगा.’’किसान नेताओं ने कहा कि यदि उनकी मांगें सरकार नहीं मानती है तो वे देशभर में रेलमार्गों को जाम कर देंगे और शीघ्र ही उसकी तारीख घोषित करेंगे.

Hamara Today न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

gf fuck from side and ass.cerita mesum