Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

अब इनकम टैक्स अफसरों के अधिकार होंगे सीमित- सुशील मोदी |News in Hindi

0

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Modi) ने पूछा कि इस ऐतिहासिक कर सुधार योजना पर राहुल गांधी और लालू यादव ने चुप्पी क्यों साध ली है? क्या वो करदाताओं को केवल कोसना जानते हैं?

पटना. बिहार के उपमुख्यमंत्री (Bihar Deputy CM) और वित्त वाणिज्य कर मंत्री सुशील मोदी (Sushil Modi) ने कर (टैक्स) में सुधारों की बात कही है. उन्होंने कहा कि किस तरह से कर (Tax) से लोग डरते थे. उससे अब मुक्ति मिलने वाली है. सुशील मोदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के 15 अगस्त के भाषण की चर्चा करते हुए कहा कि अब टैक्स को लेकर छापेमारी करने वाले आयकर के अधिकारियों के अधिकार में भी कटौती की जाएगी ताकि व्यापारी और टैक्सपेयर राहत की सांस ले सके.

सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि स्वतंत्रता दिवस पर अपने सातवें संबोधन से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था को चलाए रखने वाले डेढ़ करोड़ करदाताओं को ‘कर के डर’ (टैक्स टेरर) से आजादी देने वाले तीन बड़े कर-सुधारों की घोषणा की. अब आयकर अफसरों के सर्वे-छापे के अधिकार सीमित हो जाएंगे. स्थानीय अधिकारी किसी टैक्स पेयर का न असेसमेंट कर सकेंगे, न उनकी मिलीभगत से टैक्स छिपाया जा सकेगा. देश का कर-आधार बढ़ने से गरीबों की सेवा के लिए सरकार के संसाधन बढ़ेंगे.

अब इनकम टैक्स अफसरों के अधिकार होंगे सीमित- सुशील मोदी |News in Hindi

उद्योग-व्यापार को कर के डर से मुक्तिबिहार के डिप्टी सीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि 25 सितंबर, 2020 से लागू होने वाली ‘पारदर्शी कराधान-ईमानदार का सम्मान’ योजना में करदाता की सुविधा, निजता और सम्मान को पहली बार सुनिश्चित किया गया है. अब कोई भी कर किसी पिछली तारीख से देय नहीं होगा. इससे विदेशी निवेश को बढ़ावा मिलेगा. यूपीए सरकार ने वोडाफोन पर 22 हजार करोड़ और केयर्न पर 11 हजार करोड़ का भारी भरकम रेट्रोस्पेक्टिव टैक्स लगाया था, जिससे देशी-विदेशी निवेशक भारत में पूंजी लगाने और रोजगार के अवसर देने से पीछे हटने लगे थे. उद्योग-व्यापार को कर के डर से मुक्ति देना रोजगार के अवसर बढ़ाएगा. इस ऐतिहासिक कर सुधार योजना पर राहुल गांधी और लालू यादव ने चुप्पी क्यों साध ली? क्या वो करदाताओं को केवल कोसना जानते हैं?

PM मोदी ने ‘सबका साथ, सबका विकास’ का नया कीर्तिमान बनाया सुशील मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसे पहले गैर-कांग्रेसी राजनेता बने, जिन्हें लगातार सातवीं बार स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करने का अवसर मिला. उन्होंने एक तरफ ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ का संकल्प पूरा किया और दूसरी तरफ ‘जय जवान, जय किसान और जय अनुसंधान’ की नीति अपनाई. प्रधानमंत्री मोदी को भारतीय राजनीति में नया कीर्तिमान स्थापित करने के लिए हार्दिक बधाई.टैक्स टेरर’ से मिलेगी मुक्ति, अब इनकम टैक्स अफसरों के अधिकार होंगे सीमित- सुशील मोदी | nation – News in Hindi

ये भी पढ़े : Latest News

रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.