Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

पीएम केअर्स पारदर्शी, NDRF का पैसा तो राजीव गांधी फाउंडेशन को जाता था

0

सुप्रीम कोर्ट ने पीएम केअर्स फंड को एनडीआरएफ में ट्रांसफर करने की मांग खारिज कर दी है. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हुए केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर निशाना साधा.

सुप्रीम कोर्ट ने पीएम केअर्स फंड को एनडीआरएफ में ट्रांसफर करने की मांग खारिज कर दी है. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हुए केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पीएम केअर्स फंड से अब तक कोरोना की लड़ाई में 3100 करोड़ रुपये की मदद की गई है. इनमें से 2 हजार करोड़ रुपये का वेंटिलेटर खरीदा गया है.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 50 हजार वेंटिलेटर की खरीद की गई है, जो आजादी के बाद सबसे बड़ी खरीद है. प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए एक हजार करोड़ रुपये का आवंटन किया गया. 100 करोड़ रुपये वैक्सीन रिसर्च के लिए दिया गया. पीएम केअर्स फंड पब्लिक ट्रस्ट है और इसके हेड प्रधानमंत्री हैं.
सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पीएम केअर्स फंड में लोगों ने स्वेच्छा से दान दिया. पिछले 6 साल के दौरान मोदी सरकार पर कोई भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा. सभी चीजें पारदर्शिता के साथ हो रही है. राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा राहुल गांधी ने पहले दिन से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश को कमजोर करने की कोशिश की है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पीएम ने डॉक्टर, नर्स और कोविड की लड़ाई लड़ने वाले के लिए ताली और थाली बजाने की बात कही तो राहुल गांधी ने कहा कि क्यों बजा रहे हो. पूरे देश ने पीएम के कहने पर कोरोना के खिलाफ आशा का दीया जलाया तो राहुल ने कहा कि क्यों जला रहे हो. राहुल ने कोरोना की लड़ाई को कमजोर करने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

गौरतलब है कि आज सुप्रीम कोर्ट ने पीएम केअर्स के खिलाफ याचिका खारिज करते हुए कहा कि नवंबर 2019 में बनाई गई एनडीआरएफ कोरोना संकट से निपटने के लिए पर्याप्त है. किसी नए एक्शन प्लान और न्यूनतम मानकों को अलग करने की आवश्यकता नहीं है.
सुप्रीम कोर्ट

Latest News

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.