Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

गाजर बूटी से एलर्जी, सांस और चमड़ी के रोग हो सकते हैं : अशोक सपोलिया

0

मानसा (सुभाष कामरा) : गाजरबूटी मानव सेहत के लिए बहुत हानिकारक है और इस बूटी के कारण एलर्जी, सांस और चमड़ी के रोग हो सकते हैं गाजरबूटी मानव सेहत के लिए बहुत हानिकारक है और इस बूटी के कारण एलर्जी, सांस और चमड़ी के रोग हो सकते हैं। गाजर बूटी के खात्मे के लिए सभी को मिलकर प्रयत्न करना चाहिए और अपने आसपास जहां कहीं भी यह बूटी हो, इसको खत्म कर देना चाहिए।

इस संबंध में अशोक सपोलिया समाज सेवी ने बताया कि गाजर बूटी फरवरी महीने से उगनी शुरू होती है, बरसात के मौसम में काफी होती है और सर्दियों में इसके पौधे सूख जाते हैं। गाजर बूटी को बार-बार काटकर या हाथों में दस्ताने पाकर जड़ से उखाड़ कर भी खत्म किया जा सकता है।

बरसाती मौसम के दौरान जमीन गिली होने के कारण गाजर बूटी के पौधे आसानी से उखाड़े जा सकते हैं। मानसा के सेंटर पार्क आने वाले लोगो के लिए ये गाजर बूटी बहुत ही हानिकारक हैं हमे सबको मिलकर इसे खत्म करने के लिए पर्यास करने चाहिए। जिस से की मानसा सेंटर पार्क में किसी को भी हानी ना पहुंचे।

अशोक सपोलिया सवाज सेवी, मानसा

Leave A Reply

Your email address will not be published.