Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

गधी के दूध से बनता है दुनिया का सबसे बेहतरी पनीर

0

ये बात आपको हैरानी भरी लग सकती है कि दुनिया का सबसे महंगा और बेहतरीन पनीर गाय या भैंस से दूध से नहीं बल्कि एक गधी का दूध से बनाया जाता है, (Donkey milk) जिसको हम लोग अपने देश में किसी गिनती में गिनते ही नहीं. दुनिया का ये सबसे महंगा पनीर यूरोपीय देश सर्बिया के एक फॉर्म हाउस में बनाया जाता है जिसकी कीमत होती है करीब 78 हज़ार रुपये किलो.

इसे बहुत दुलर्भ पनीर भी माना जाता है, क्योंकि इसको बहुत अधिक मात्रा में नहीं बनाया जा सकता. इसे बनाया जाता है गधे की एक खास नस्ल के जरिए. (Donkey milk) सफेद रंग का, घना जमा और फ्लेवर युक्त यह स्वादिष्ट पनीर सर्बिया के एक फॉर्म हाउस में गधी के दूध से बनाया जाता है.  (Donkey milk)

बहुत फायदेमंद माना जाता है ये दूध
सिमिक का दावा है कि सर्बिया के इन गधों के दूध में मां के दूध जैसे गुण होते हैं. एक नवजात शिशु को जन्म के पहले दिन से ही ये दूध दिया जा सकता है. वो भी ​बगैर पतला किए हुए. फॉर्म हाउस के मालिक  सिमिक इस दूध को कुदरत का वरदान कहते हैं और सेहत के लिए बेहद फायदेमंद. उनका दावा है कि इसका सेवन अस्थमा और ब्रॉंकाइटिस जैसे कुछ और रोगों में फायदेमंद है.

गधी का दूध निकालता एक फॉर्म कर्मचारी.

इसमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अच्छी होती है
इन दावों के बावजूद अब तक इस दूध पर वैज्ञानिक शोध नहीं हो सके हैं इसलिए सेहत के लिए इसके फायदे या गुणों के बारे में ज़्यादा मालूमात नहीं है. हालांकि यूनाइटेड नेशंस ने इस दूध के बारे में कहा था कि ये उन लोगों के लिए बेहतरीन विकल्प है, जिन्हें गाय के दूध से एलर्जी जैसी समस्याएं हों. इसकी वजह ये भी थी कि इस दूध में प्रोटीन की मात्रा बहुत अच्छी होती है.

और पहली बार यूं बना गधे के दूध से पनीर
सिमिक की मानें तो दुनिया में उनसे पहले गधी के दूध से पनीर किसी ने नहीं बनाया. इस प्रॉडक्ट पर वो अपना ​अधिकार मानते हैं. जब उन्हें इस दूध से पनीर बनाने का आइडिया आया तो पहली समस्या ये थी कि इस दूध में कैसीन का स्तर कम होता है, जो पनीर के लिए बाइंडिंग एजेंट का काम करता है.

इसलिए पनीर का उत्पादन होता है कम 
खास बात ये है कि एक गधी एक दिन में एक लीटर दूध भी नहीं देती जबकि एक गाय से 40 लीटर प्रतिदिन तक दूध मिल सकता है. इसी वजह से इस पनीर का उत्पादन बहुत कम हो पाता है. एक साल में ये फॉर्म 6 से 15 किलो तक पनीर बनाता और बेचता है.

इस दूध से शराब भी बनाई जाती है 
इस पनीर का उत्पादन कम होने के कारण इसकी कीमत बहुत ज़्यादा हैं. इसके खरीदार ज़्यादातर विदेशी और पर्यटक होते हैं. सिमिक कहते हैं कि उनका फॉर्म गधी के दूध से साबुन और शराब का उत्पादन भी करता है. ये पनीर 2012 में तब चर्चा में आया था, जब सर्बिया के टेनिस स्टार नोवाक जोकोविच के बारे में कहा गया था कि उनके लिए इस पनीर की सालाना सप्लाई की जाती है, हालांकि नोवाक ने इस खबर का खंडन किया था.

सर्बिया में गधी के दूध से बनने वाला पनीर सामान्य पनीर जैसा ही सफेद रंग का दिखता है.

किस प्रजाति के हैं ये गधे
चूंकि खेती में ज़्यादातर काम मशीनों से होने लगा है कि इसलिए इन गधों का सर्बिया में उपयोग खत्म हो चुका है. ये बाल्कन प्रजाति के गधे हैं जो सर्बिया और मांटेनेग्रो प्रांत में ही शुरू से पाए जाते रहे हैं. सिमिक कहते हैं कि उनके फॉर्म में गधों की इस प्रजाति का संरक्षण भी किया जा रहा है.

सिमिक का ये भी कहना है कि उनके प्रॉडक्ट के बाद इन गधों के लिए डिमांड बढ़ रही है, जिससे उन्हें और उनके इलाके को फायदा भी हो रहा है. गधी के दूध से बनने वाले दुनिया के सबसे महंगे पनीर को प्यूल चीज़ कहा जाता है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.