Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

मनोज्ञान – ‘जैसे शरीर में डाले जाने वाली हर एक चीज़ शरीर को प्रभावित करती ही है, वैसे ही मन में पैदा होने वाला हर एक भाव मन को प्रभावित करता ही है!’ केके

0

KK Article in Hindi | Today KK Article | Manogayan | मनोज्ञान केके

यह एक सामान्य बात है कि एक व्यक्ति जो कुछ भी खाता-पीता है वह उस इंसान के शरीर में अपना असर दिखाता है। ठीक ऐसे ही मन भी जो कुछ ग्रहण कर जैसा भाव अर्थात भावना (इमोशन) पैदा करता है, वह भाव मन पर अपना प्रभाव छोड़ता ही है! अतः दुःख-सुख का अहसास मन में पैदा होने वाले भाव ही करवाते हैं!

KK Article in Hindi | Today KK Article | Manogayan | मनोज्ञान केके

एक बार गुरु गोबिंद सिंह के पास एक सीधा-साधा जाट आया और उनसे नौकरी देने की विनती की। उन्होंने उसे घोड़ों की देखभाल करने के काम पर रख लिया। गुरू जी ने उसका नाम पूछा तो उसने ‘बेला’ बताया। गुरु गोबिंद सिंह ने आगे पूछा, “क्या तुम्हें कुछ लिखना-पढ़ना आता है?” “जी नहीं,” बेला ने जवाब दिया। तब गुरू जी बोले, “अच्छा हम तुम्हे पढ़ाएंगे। आज से तुम इस वाक्य को रोज़ दोहराया करो, “वाह भाई बेला, न पहचाने वक़्त, न पहचाने बेला।” वह बेचारा गुरूजी के दिए इस मंत्र को रटने लगा।

KK Article in Hindi | Today Article | Manogayan | मनोज्ञान केके

जब दूसरे शिष्य ने उसे यह वाक्य रटते हुए देखा तो उसने गुरू जी से पूछा, “आपने यह कैसा वाक्य रटने के लिए दे दिया है गुरूजी।” गुरु जी बोले, “जिसने बेला यानी वक्त को नहीं जाना उसने संसार को भी नहीं जाना। वह जब अपने नाम की सार्थकता को समझ जाएगा, उसका बेड़ा पार हो जाएगा।” बेला अपने में मग्न रहा और उसके साथी अपने तरीके से जीते रहे। एक दिन एक दूसरे शिष्य ने गुरूजी से शिकायत की, “गुरुदेव! क्षमा करें, हम लोग आपकी निःस्वार्थ सेवा करते हैं, लेकिन आप उपदेश ‘बेला’ को ही देते हैं।” गुरु जी ने उनके इस सवाल का कोई जवाब नहीं दिया। मगर वे बोले, “तुम लोग एक घड़ा भांग तैयार करो और उसके खत्म होने तक उसका कुल्ला करते रहो। फिर मेरे पास आना।” भांग खत्म हो जाने पर उन्होंने लोगों से पूछा, “नशा चढ़ा कि नहीं?” सभी की और से जवाब मिला, “नहीं।” उन्होंने बेला को बुलाया। सबने देखा कि उसे नशा-सा चढ़ा हुआ है और वह एक ही रट लगाए जा रहा है, “वाह भाई बेला…वाह भाई बेला…” यह सुनकर गुरु जी बोले, “बेला को भांग के नशे के साथ अपने नाम का भी नशा चढ़ गया है, उसके मन ने दोनों चीजों को ग्रहण किया है।”

KK
WhatsApp @ 9667575858

Hamara Today न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

join Whatsaap Group
Hamara Today India Whatsaap Group

Leave A Reply

Your email address will not be published.