Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

पंजाब के समाज कल्याण मंत्री धर्मसोत के खिलाफ प्रदर्शन

0

लुधियाना : शिरोमणि अकाली दल ने आज लघु सचिवालय के बाहर पंजाब के समाज कल्याण मंत्री सरदार साधू सिंह धर्मसोत को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग को लेकर प्रदर्शन और नारेबाजी की। प्रदशर्नकारियों का कहना था की यह सिद्ध हो चुका है कि समाज कल्याण मंत्री ने गरीब दलित छात्रों के लिए केंद्र की ओर से आए पोस्ट मैट्रिक वजीफों की राशि में 64 करोड़ रूपये की घपलेबाजी की है। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व करते हुए पार्टी के युवा अकाली नेता तनवीर सिंह धालीवाल ने कहा कि मंत्री पर आरोप किसी राजनेता या राजनीतिक पार्टी नहीं बल्कि उनके अपने विभाग के प्रिंसिपल सचिव जो एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी हैं, ने मुख्य सचिव को सौंपी रिपोर्ट में लगाए हैं। उन्होंने कहा पंजाब के मुख्यमंत्री केवल अपने मंत्री को बचाने के लिए मामले की जांच मुख्य सचिव से करवा रहे हैं।

अकाली प्रदर्शनकारियों ने इसकी जांच सीबीआई से करवाने की मांग की। प्रदर्शनकारियों नें मंत्री धर्मसोत के विरुद्ध पुलिस में मामला दर्ज कर उनको गिरफ्तार करने की भी मांग। प्रदर्शन के दौरान कोरोना महामारी से बचने के लिए सरकार द्वारा जारी आदेशों की धज्जियां उड़ाई गई।

बठिंडा में भी अकाली वर्करों ने फूंका धर्मसोत का पुतला

बठिंडा :दलित छात्रों की स्कॉलरशिप में कथित घपले के मामले को लेकर आज यूथ अकालीदल के वर्करों ने अपने जिलाध्यक्ष गुरदीप सिंह व देहाती अध्यक्ष गरदौर सिंह के नेतृत्व में पंजाब के कैबिनेट मंत्री साधू सिंह धर्मसोत का पुतला फूंका। यहां अंबेदकर चौक पर यूथ अकालीदल के वर्कर एकत्रित हुए जिन्हें गरदीप सिंह, गरदौर सिंह, अमरजीत सिंह, हरजीत सिंह, जगमीत सिंह व अन्य ने सम्बोधन किया। इन नेताओं ने कांग्रेस सरकार घोटालों की सरकार बन गई है। उन्होंने मांग की कि वजीफ़ा घोटाले की सीबीआई जांच करवाई जाये व उक्त मंत्री पर केस दर्ज किया जाए।

Latest News : जांच में रिपोर्ट Corona Positive आने पर शरीर में सीटी वैल्यू 24 से ज्यादा तो नहीं फैलेगा संक्रमण | Hamara Today News

ब्रेकिंग  न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More