Hamara Today
Hindi & Punjabi Newspaper

School Reopening : 1 सितंबर से देश में फिर से खुलेंगे स्कूल! जल्द जारी होगी गाइडलाइन, जानें सरकार की प्लानिंग

0

School Reopening : पिछले पांच महीने से ज्यादा का समय बीत गया है जब से देश भर में स्कूल कॉलेज (School-College Reopen) कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण बंद हैं. अभी देश में कहीं भी 2020-2021 सेशन शुरू नहीं हो सकें हैं. स्कूल बंद होने की वजह से बच्चों का काफी नुकसान हो रहा है, देश में अब कब से पहले की तरह स्कूल चलेंगे सब इसी प्रश्न का सवाल तलाश रहे हैं. अब सरकार फिर से स्कूल कॉलेज खोलने (School Reopening Date) को लेकर योजना बना रही है. माना जा रहा है कि एक सितंबर से देश के अलग अलग हिस्सों में फिर से स्कूल खोलने की इजाजत दे दी जाएगी और बच्चे दोबारा से स्कूल कॉलेज जा सकेंगे.

कोरोनावायरस संकट के बीच मे स्कूल खोलने को लेकर अभी सरकार की तरफ से किसी भी प्रकार की पुष्टि नहीं की गई है लेकिन अगर मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के पहले केंद्र सरकार स्कलू खोलने के लिए गाइडलाइन जारी कर सकती है

पूरे देश में अनलॉक का अगला चरण एक सितंबर से शुरू होना और इसके लिए अगस्त के महीने के अंत तक गाइडलाइन जारी हो सकती है और अनलॉक के साथ ही स्कूल भी खोल दिए जाएंगे लेकिन स्कूल-कॉलेज पर आखिरी फैसला राज्य सरकार पर ही निर्भर करेगा. यह राज्य सरकार का दायित्व होगा कि वह किस प्रकार से बच्चों और टीचर्स के लिए नियम तय करती हैं. केंद्र सरकार 1 सितंबर से चरणबद्ध तरीके से स्कूलों को खोलने पर विचार कर रही है

School Reopening
School Reopening

देश में दोबारा पढ़ाई सुचारु रूप से शुरू हो सके इसके लिए सचिव स्तर पर बात भी हो चुकी है. सरकार ने इसके लिए मंत्रियों के एक समूह को स्थिति का जायजा लेकर नियम तय करने की जिम्मेदारी दी है. उम्मीद है कि अगस्त महीने के अंत तक देश को पूरी तरह से अनलॉक करने के निर्देश जारी कर दिए जाएंगे और इसी के बाद से स्कूल कॉलेज भी खोल दिए जाएंगे.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरकार पहले दसवीं और बारहवीं कक्षा के क्लासेस शुरू करने का प्लान कर रही है और अगर सब कुछ ठीक रहा तो इसके बाद छठी से लेकर नौवीं कक्षा तक की क्लास भी शुरू हो सकती हैं. बताया जा रहा है कि एक सितंबर से स्कूल में सिर्फ दो सेशन में पढ़ाई होगी ताकि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे.

आपको बता दें कि स्कूल कॉलेज को खोलने के लिए इससे पहले जुलाई में सर्वे कराया गया था लेकिन इसमें अभिभावक बच्चों को स्कूल भेजने के पक्ष में नहीं थे. जबकि राज्य सरकारों का कहना है कि स्कूल न खुलने की वजह गरीब परिवारों के बच्चों का काफी नुकसान हो रहा है.

ये भी पढ़े : राशन की दुकानों में काम करने वालों का होगा कोरोना टेस्ट, केन्द्र ने राज्यों को दिये निर्देश

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें  फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.